Breaking News

विदाई भाषण में बोले ओबामा : मुस्लिम उतने ही देशभक्त जितने बाकी अमेरिकी

लाइव सिटीज डेस्क : आठ साल तक अमेरिका के राष्ट्रपति रहे बराक ओबामा ने मंगलवार को दिए अपने विदाई भाषण में सब को भावुक कर दिया. लोग Four more years यानी ‘ओबामा अभी चार साल और बने रहो जैसे नारे लगाने लगे. लेकिन, अमेरिकी संविधान आठ साल से अधिक की इजाजत नहीं देता. ओबामा अभी सिर्फ 55 साल के हैं. इस उम्र में हमारे देश के नेता युवा कहलाते हैं.

अपनी फेयरवेल स्पीच में ओबामा ने कहा कि मिशेल और मुझे पिछले कुछ हफ्तों से शुभकामनाएं मिल रही हैं. आज मैं शुक्रिया कहना चाहता हूं. हर दिन मैंने आपसे सीखा. आप लोगों ने मुझे बेहतर राष्ट्रपति और इंसान बनाया.

अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति ओबामा का कार्यकाल 20 जनवरी को खत्म हो रहा है.

ओबामा ने देश में लोकतंत्र को नस्लवाद, असमानता और नुकसानदेह राजनीतिक माहौल से खतरा बताते हुए अमेरिकियों से इसकी रक्षा के लिए एकजुट होने का आह्वान किया. जब हम भय के सामने झुक जाते हैं तो लोकतंत्र प्रभावित हो सकता है. इसलिए हमें नागरिकों के रूप में बाहरी आक्रमण को लेकर सतर्क रहना चाहिए. हमें अपने उन मूल्यों की रक्षा करनी चाहिए जिनकी वजह से हम वर्तमान दौर में पहुंचे हैं.

ओबामा के मन में शायद नए राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के माइनारिटीज़ के प्रति कड़वे बयान घूम रहे थे. तभी तो उन्होंने बगैर हिचकिचाहट के घोषणा की कि अमेरिकी राष्ट्रपति देशभक्त हैं. उन्होंने कहा कि अमेरिका एक बेहतर और मजबूत राष्ट्र बना है. पिछले आठ साल में एक भी आतंकी हमला नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि बोस्टन और ऑरलैंडो की घटनाएं हमें याद दिलाते हैं कि कट्टरता कितनी खतरनाक हो सकती है. हमारी एजेंसियां पहले से कहीं अधिक प्रभावी हैं. ISIS खत्म होगा. अमेरिका के लिए जो भी खतरा पैदा करेगा, वो सुरक्षित नहीं रहेगा. ओसामा बिन लादेन समेत हजारों आतंकियों को हमने मार गिराया है.

लेकिन, आतंकवाद के खिलाफ बोलते हुए ओबामा यह कहना भी नहीं भूले कि मैं मुस्लिम अमेरिकियों के खिलाफ भेदभाव को अस्वीकार करता हूं. मुसलमान भी उतने देशभक्त हैं, जितने हम.

भाषण करते हुए क्षण भर को अपनी पत्नी मिशेल की ओर मुखातिब होते हुए ओबामा ने उनकी बहुत तारीफ की. बोले आप पिछले पच्चीस सालों से न केवल मेरी पत्नी और मेरे बच्चों की मां हैं, बल्कि मेरी सबसे अच्छी दोस्त हैं. उनकी बातें सुनकर मिशेल और उनके बच्चों की भी आंखों में आंसू आ गए.

ओबामा ने उपराष्ट्रपति जो बिडेन की भी प्रशंसा की. बोले, आज मैंने अपना भाई पाया. भाषण के अंत में ओबामा ने उस स्लोगन की याद दिलाई जिसके चलते वे राष्ट्रपति का चुनाव जीते थे. वह स्लोगन था YES WE CAN. इतना कहकर वे बोले YES, WE DID. ( यहां yes we can का आशय है कि हां, हम बदलाव ला सकते हैं और yes we did का आशय है कि हां, हम बदलाव लाए.)

यह भी पढ़ें

इस देश ने भी लगाया बुर्के पर बैन, सुरक्षा कारणों का हवाला दिया

देश का चौकीदार खाए काजू-मशरूम, जवान खाए सूखी-जली रोटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *